UPSC Kya Hai? UPSC की तैयारी कैसे करें? | UPSC Full Form

UPSC Kya Hai: आज के समय अधिकतर युवा UPSC एग्जाम को पास करने का सपना देखते है, हालाँकि यूपीएससी की परीक्षा को पास करना आसान नहीं है। आज के समय में यूपीएससी को भारत की सबसे ज्यादा कॉम्पिटिशन और टफ एग्जामो में से एक माना जाता है। लेकिन आज भी काफी सारे लोग ऐसे है जिन्हे यूपीएससी के बारे में जानकारी नहीं होती है, चलिए आज हम अपने इस लेख में यूपीएससी के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

Table of Contents

यूपीएससी क्या है (UPSC Kya Hai) / What is UPSC in Hindi?

काफी सारे लोगो के मन में यह सवाल रहता है की यूपीएससी क्या है? तो हम आपको बता दें की यूपीएससी भारत की सबसे प्रमुख भर्ती एजेंसी के रूप में जानी जाती है। यूपीएससी अधिकारी लेवल की जॉब की परीक्षाओं का आयोजन कराती है। यूपीएससी के द्वारा देश के सर्वश्रेष्ठ सभी सेवा जैसे IAS, IPS, IRS और अन्य कई सरकारी अधिकारी पद की भर्ती की जाती है। यूपीएससी के अंतर्गत कौन कौन सी परीक्षा होती है इसके बारे में हम आपको नीछे बताने वाले है, सबसे पहले हम आपको यूपीएससी की फुल फॉर्म के बारे में जानकारी दे रहे है।

यूपीएससी की फुल फॉर्म क्या है? / UPSC full form

ऊपर आपने जाना UPSC क्या है?, चलिए अब हम आपको यूपीएससी की फुल फॉर्म हिंदी और इंग्लिश दोनों के बारे में बता रहे है।   

UPSC full form in English   –  Union public service commission

UPSC full form in Hindi – संघ  लोक सेवा आयोग

यूपीएससी एग्जाम के लिए शैक्षिक योग्यता / Eligibility for UPSC Exam in hindi

अगर आप यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा देना चाहते है तो आपके पास कम से कम केंद्रीय या राज्य सरकार से मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन की डिग्री होनी जरुरी है। सिविल सेवा परीक्षा देने के लिए उम्मीदवार का स्नातक पास होना जरुरी है और अगर आप स्नातक के आखिरी वर्ष के छात्र है तो भी आप सिविल सेवा परीक्षा दे सकते है।

यूपीएससी के लिए कितनी उम्र होनी चाहिए

यूपीएससी की परीक्षा देने के लिए कितनी उम्र होनी चाहिए? तो हम आपको बता दें की इस परीक्षा को देने के लिए GEN, OBC और SC कास्ट के लिए अलग होती है।

1 – अगर आप सामान्य यानी general वर्ग के उम्मीदवार है तो यूपीएससी की परीक्षा देने के लिए आपकी उम्र कम से कम 21 वर्ष और अधिकतम उम्र 32 वर्ष होनी चाहिए, सामान्य वर्ग वाले छात्र यूपीएससी का एग्जाम अधिकतम 6 बार दे सकते हैं।

2 – अगर आप पिछड़ें यानी OBC वर्ग के उम्मीदवार है तो आपको इस परीक्षा में 3 वर्ष की छूट दी जाती है, OBC CATEOGARY या पिछड़ी जाती के छात्रों की इस परीक्षा को देने के लिए न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 35 वर्ष होती है, पिछड़े वर्ग के छात्र यूपीएससी का एग्जाम 9 बार दे सकते हैं।

3  – अगर आप अनुसूचित या SC वर्ग के छात्र है तो आपको उम्र सीमा में 5 वर्ष की छूट मिलती है। यूपीएससी की परीक्षा के लिए SC वर्ग के छात्रों की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष और अधिकतम उम्र 37 वर्ष होती है।

UPSC का इतिहास

ऊपर आपने यूपीएससी की फुल फॉर्म के बारे में जानकारी प्राप्त की है, लेकिन क्या आप यूपीएससी के इतिहास के बारे में जानते है। चलिए अब हम आपको UPSC का इतिहास के बारे में बताते है, भारत में योग्यता के आधार पर आधुनिक सिविल सेवा परीक्षा की शुरुआत वर्ष 1854 में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा शुरू की गई थी। इस परीक्षा की शुरुआत लंदन से हुई थी, सबसे पहले सिविल सेवा की परीक्षा केवल लंदन में ही आयोजित होती थी, उस समय पर इस परीक्षा को केवल ब्रिटिश लोग ही दे सकते थे। ब्रिटिश नागरिक के अलावा इस परीक्षा को कोई अन्य नहीं दे सकता था, ऐसा करने के पीछे की मुख्य वजह यह थी की इस परीक्षा को केवल ब्रिटिश ही पास करें कोई भारतीय नहीं, उस समय की परीक्षा के पाठ्यक्रम को भी ब्रिटिश लोगो के हिसाब से डिजाइन किया गया था।

READ ALSO  Email Address Kya Hota Hai | ईमेल एड्रेस क्या है और कैसे बनाएं?

परीक्षा का पाठ्यक्रम ब्रिटिश नागरिको के अनुसार होने के बावजूद भी वर्ष 1864 में श्री रवींद्रनाथ टैगोर के भाई श्री सत्येंद्रनाथ टैगोर ने यूपीएससी की परीक्षा में पास हुए थे। सत्येंद्रनाथ टैगोर पहले भारतीय थे जिन्होंने यूपीएससी की परीक्षा पास की थी, प्रथम विश्व युद्ध के बाद सिविल सेवा परीक्षा का आयोजन भारत में ही किया जाने लगा। उसके बाद 1 अक्टूबर वर्ष 1926 को पहली बार भारत में लोक सेवा आयोग की स्थापना करी गई थी, उस समय पर यूपीएससी के अध्यक्ष सर रॉस बार्कर बने थे, सर रॉस बार्कर को यूपीएससी के पहले अध्यक्ष के रूप में जाने जाते है। उसके बाद 26 जनवरी वर्ष 1950 को भारत का संविधान लागू हुआ और उसी के साथ संघीय लोक सेवा आयोग को भी मान्यता दी गई थी।

यूपीएससी द्वारा आयोजित कराई जाने वाली परीक्षाएँ

ऊपर आपने यूपीएससी क्या है? इसके बारे में जानकारी प्राप्त की, अब हम आपको उन परीक्षाओ के बारे में बता रहे है, जो यूपीएससी आयोजित करता है। यूपीएससी के द्वारा आयोजित परीक्षा अलग अलग पोस्ट के लिए होती है और उनके लिए शैक्षिक योग्यता भी अलग अलग होती है।

सिविल सेवा परीक्षा (CSE)

यूपीएससी के द्वारा आयोजित परीक्षाओ में से एक है सिविल सेवा परीक्षा, इस परीक्षा का आयोजन अधिकारी भर्ती के लिए किया जाता है। सिविल सेवा परीक्षा पास करने के बाद आपको IAS,  IPS,  IFS,  IRS,  IDES,  IIS इत्यादि अधिकारियों की जॉब मिलती है। इस परीक्षा के लिए युवाओ में बहुत ज्यादा जोश देखने को मिलता है और अधिकतर युवाओ का सपना इस परीक्षा को पास करने का होता है। काफी लोगो के मन में यह सवाल होता है सिविल सेवा परीक्षा के लिए शैक्षिक योग्यता क्या होनी चाहिए, चलिए अब हम आपको बताते है की सिविल सेवा परीक्षा देने के लिए आपके पास कौन सी शैक्षिक योग्यता होनी चाहिए।

सिविल सेवा परीक्षा के लिए शैक्षिक योग्यता – सिविल सेवा परीक्षा देने के लिए आपके पास किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से कम से कम स्नातक या बैचलर की डिग्री होना बहुत ज्यादा जरुरी है। हालाँकि कुछ पोस्ट में स्नातक में किसी खास सब्जेक्ट की मांग भी हो सकती है।

इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा (ESE)

काफी सारे युवा यह नहीं जानते है की इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा क्या होती है? यह परीक्षा भी यूपीएससी के द्वारा ही आयोजित की जाती है। इस परीक्षा को पास करने वाले छात्रों को भारतीय इंजीनियरिंग सेवा (IES) में अधिकारी रेंक में भर्ती किया जाता है। इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा पास करने वाले अधिकारी सड़कों, रेलवे और बिजली इत्यादि तकनीकी पहलुओं की देखभाल और काम करते है।

इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा के लिए योग्यता – अगर आप इस परीक्षा को देना चाहते है तो आपके पास इंजीनियरिंग स्नातक की डिग्री होनी चाहिए। अगर आप इंजीनियरिंग स्नातक के फ़ाइनल ईयर के छात्र है तो भी आप इस परीक्षा को दे सकते है।

संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा (CDS)

संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा का आयोजन भी यूपीएससी करती है, संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा करने वाले छात्रों को भारतीय सैन्य अकादमी,  भारतीय नौसेना अकादमी,  भारतीय वायु सेना अकादमी और अधिकारियों के प्रशिक्षण अकादमी में भर्ती मिलती है। आप ऐसे भी समझ सकते है की जिन युवाओ का मन सेना में जाने का होता है उनके लिए यूपीएससी CDS की परीक्षा आयोजित करती है।

संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा के लिए शैक्षिक योग्यता: CDS की परीक्षा देने के लिए उम्मीदवार का अविवाहित होना और स्नातक पास की डिग्री होनी जरुरी है।

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी परीक्षा (NDA)

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी परीक्षा या NDA की परीक्षा का आयोजन यूपीएससी के द्वारा ही किया जाता है। NDA या राष्ट्रीय रक्षा अकादमी परीक्षा वर्ष में दो बार आयोजित की जाती है। ऐसे छात्र जो सेना में अधिकारी पोस्ट पर भर्ती होना चाहते है उनके लिए यूपीएससी NDA की परीक्षा आयोजित करवाती है।

READ ALSO  Vinegar Kya Hota Hai (विनेगर क्या होता है)? सिरका के फायदे और नुकसान

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी परीक्षा के लिए शैक्षिक योग्यता – NDA या राष्ट्रीय रक्षा अकादमी परीक्षा देने के लिए छात्र को इंटरमीडिएट परीक्षा उत्तीर्ण होने के साथ साथ अविवाहित होना जरूरी है। इंटर क्लास में पढ़ने वाले छात्र भी इस परीक्षा को दे सकते है।

संयुक्त चिकित्सा सेवा परीक्षा (CMSE)

यह परीक्षा चिकित्सा क्षेत्र में रूचि रखने वाले छात्रों के लिए आयोजित की जाती है, इस परीक्षा को पास करने वाले छात्र भारतीय आयुध कारखानों और भारतीय रेलवे इत्यादि विभिन्न सेवाओं में चिकित्सा अधिकारियों के पद को प्राप्त करते है।

संयुक्त चिकित्सा सेवा परीक्षा के लिए शैक्षिक योग्यता – अगर आप इस परीक्षा को देना चाहते है तो आपको एक योग्य चिकित्सक होना जरुरी है, अलग अलग पदों के लिए अलग अलग डिग्री की जरुरत पढ़ती है।

भारतीय आर्थिक सेवा और भारतीय सांख्यिकीय सेवा परीक्षा (IES & ISS)

भारतीय आर्थिक सेवा और भारतीय सांख्यिकीय सेवा परीक्षा का आयोजन यूपीएससी ही कराती है, इस परीक्षा को पास करने वाले छात्रों को भारतीय आर्थिक और सांख्यिकीय सेवाओं में फोर्थ ग्रेड अधिकारियों के पद पर भर्ती की जाती है। और इस परीक्षा को देने के लिए उम्मीदवार का स्नातक पास होना जरुरी है।

भारतीय वन सेवा परीक्षा (IFSE)

अगर आप वन विभाग में अधिकारी के पद पर जॉब करना चाहते है तो यूपीएससी ऐसे छात्रों के लिए भवरती वन सेवा परीक्षा आयोजित करवाती है और इस परीक्षा को पास करने वाले छात्रों को भारतीय वन सेवा में अधिकारी पोस्ट की जॉब मिलती है।

भारतीय वन सेवा परीक्षा के लिए शैक्षिक योग्यता – अगर आप भारतीय वन सेवा परीक्षा को देना चाहते है तो आपको स्नातक पास होना जरुरी है।

स्पेशल क्लास रेलवे अपरेंटिस परीक्षा (SCRA)

ऐसे छात्र जो इंजिनीरिंग में स्नातक डिप्लोमा करते है उन्हें एक साल की अप्रेंटिस करनी होती है, अगर आप सरकारी विभाग में अप्रेंटिस करना चाहते है तो ऐसे छात्र जिन्होंने मेकेनिकल या इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में स्नातक किया है उनके लिए स्पेशल क्लास रेलवे अपरेंटिस परीक्षा का आयोजन किया जाता है।

स्पेशल क्लास रेलवे अपरेंटिस परीक्षा के लिए शैक्षिक योग्यता – इस परीक्षा को देने के लिए आवेदन करने के पास संबधित ट्रेड में स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल परीक्षा (CAPF)

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल परीक्षा का आयोजन भी यूपीएससी ही कराती है, इस परीक्षा को पास करने वाले छात्रों को केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों में सहायक कमांडेंट के पद पर नौकरी मिलती है।

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल परीक्षा के लिए शैक्षिक योग्यता – अगर आप केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल परीक्षा को देना चाहते है तो आपके पास स्नातक पास की डिग्री होना जरुरी है।

UPSC के तहत सबसे ज्यादा युवाओं को आकर्षित करने वाली पोस्ट IAS और IPS है,  ऐसे में आज हम आपको IAS Full Form और IPS Full Form के साथ-साथ इन दोनों पदों के सारे विवरण आपको देने जा रहे हैं।

यूपीएससी की स्थापना

यूपीएससी के बारे में आपने पढ़ा, लेकिन क्या आप जानते है की यूपीएससी की स्थापना कब हुई थी? या यूपीएससी की स्थापना कौन से वर्ष में हुई थी? दरसल यूपीएससी की स्थापना 1 अक्टूबर वर्ष 1926 में हुई थी, यूपीएससी का ऑफिस धौलपुर हाउस,  शाहजहाँ रोड,  नई दिल्ली में स्थित है। भारत में लगभग सभी अधिकारी पद की भर्तियां यूपीएससी के द्वारा ही की जाती है, यूपीएससी विभिन्न परीक्षाओं को आयोजित कराने के साथ साथ भर्ती के नियमों में बदलाव और पदोन्नति इत्यादि के लिए जिम्मेदार है।

यूपीएससी परीक्षा के एग्जाम का सिलेबस

ऊपर आपने यूपीएससी के बारे में जानकारी प्राप्त की है, ऐसे छात्र जो यूपीएससी का एग्जाम देना चाहते है, उनके मन में यह सवाल रहता है की यूपीएससी का एग्जाम सिलेबस क्या है? या यूपीएससी के एग्जाम में क्या आता है? तो हम आपको बता दें की यूपीएससी अलग अलग विभागों के अलग अलग पदों के लिए एग्जाम कराती है, इसीलिए यूपीएससी के हर एग्जाम का सिलेबस भी अलग अलग होता है। आप ऐसे भी समझ सकते है की यूपीएससी के CMS एग्जाम में मेडिकल और IES एग्जाम में इंजीनियरिंग से संबंधित प्रश्न आते है। लेकिन सभी परीक्षाओ में कुछ सेम सब्जेक्ट सभी एक्साम में आते है जैसे जनरल अवेयरनेस के क्वेश्चन आपको लगभग हर एग्जाम के पेपर देखने को मिलते है, इसीलिए अगर आप यूपीएससी के किसी बी एक्साम की तैयारी कर रहे है तो आपको जनरल अवेयरनेस के बारे में जरूर पढ़ना चाहिए। यूपीएससी के कुछ एग्जाम में बेसिक मैथ्स और रीजनिंग भी आती है, इनके अलावा जो भी आपका मुख्य विषय हैं, उसके बारे में भी आपको बहुत विस्तार से जानकारी होनी बहुत जरुरी है।

READ ALSO  High BP Me Kya Khaye - हाई बीपी में क्या खाना चाहिए?

यूपीएससी परीक्षा से क्या बन सकते है?

काफी सारे लोगो के मन में यह सवाल होता है की यूपीएससी का एक्साम पास करने के बाद कौन सी नौकरी या किस पद पर नौकरी मिलती है। दरसल यह तो आप अच्छी तरह से समझ ही गए होंगे की यूपीएससी में अलग अलग विभागों में अलग अलग पद पर नौकरी मिलती है, यूपीएससी ग्रुप A और B के अंतर्गत आने वाले पदों के लिए एग्जाम करवाती है, इसीलिए इस परीक्षा को पास करने वाले छात्र उच्च पदों तक पंहुचते हैं। चलिए अब हम आपको यूपीएससी के कुछ मुख्य पद निम्न प्रकार है।

कलेक्टर

एसडीएम

एसपी

डीएसपी

मेडिकल ऑफिसर

जाइंट सेक्रेट्री

रेलवे,  दूरसंचार विभाग में इंजीनियर

आर्म्ड फोर्स में असिस्टेंट कमांडेंट

आर्मी,  नेवी या वायुसेना में अधिकारी

आयकर विभाग में अधिकारी

भूवैज्ञानिक

यूपीएससी की तैयारी कैसे करें ?

जो भी छात्र यूपीएससी का एग्जाम देना चाहते है उनके मन में यह सवाल जरूर रहता है की आखिर यूपीएससी की तैयारी कैसे करें? या यूपीएससी की तैयारी कैसे करनी चाहिए? आज केसमै में यूपीएससी के एग्जाम को भारत के सबसे मुश्किल एग्जाम में से एक माना जाता है, हर साल लाखों उम्मीदवार UPSC exam की तैयारी और एग्जाम देते है, इसीलिए यूपीएससी का एग्जाम में कॉम्पिटिशन बहुत ज्यादा हो गया है। अगर आप UPSC exam की तैयारी करना चाहते है तो अब हम आपको कुछ ऐसे बेहतरीन और आसान टिप्स बताने जा रहे है, जो एग्जाम पास कराने में आपकी मदद कर सकते है।

– अगर आप यूपीएससी क्लियर करना चाहते है तो सबसे पहले आपको यूपीएससी के बारे में सही और सटीक जानकारी जरूर प्राप्त कर लें।

– यूपीएससी की परीक्षा में अच्छे नंबर से पास होने के लिए आपको यूपीएससी की परीक्षा में आने वाले हर एक विषय को बहुत अच्छे से पढ़ें, आपको उन सब्जेक्ट की जानकारी उनके बेसिक से होनी चाहिए। 

– यूपीएससी की तैयारी करने से पहले आपके पास सही और बेहतरीन किताब का होना बहुत ज्यादा जरुरी है। UPSC के लिए बेस्ट किताब की जानकारी आप टीचर या ऑनलाइन या किसी परिचित से पता कर सकते है, इसके अलावा सिलेबस में से चैप्टर को ढंग से पढ़ें, उन चेप्टर मे से कठिन और सरल चेप्टर का चयन कर लें।

– शुरुआत कठिन चेप्टर से करनी चाहिए इसके साथ साथ करंट अफेयर्स और जनरल नॉलेज यानी GK की तैयारी काफी मजबूत तरीके से करनी चाहिए। क्योंकि पहले पेपर में करंट अफेयर्स और GK से कम से कम 30 से 40 सवाल आते है।

– UPSC की तैयारी शुरू करने से पहले आपके अपना पढ़ने का एक रूटीन बनाना बहुत जरुरी है और उससे भी ज्यादा जरुरी है उस रूटीन के हिसाब से पढ़ना। इस रूटीन में आपके सभी सब्जेक्ट इस तरह से मैनेज करने होंगे जिससे आपके पहले और दूसरे पेपर की तैयारी साथ साथ हो जाएं।

– शुरुआत में आपको सबसे ज्यादा फोकस paper-1 यानी general study पर करना है, रोजाना मॉक टेस्ट दें जिससे आपको आपकी तैयारी के बारे में पता चल सके। 

– यूपीएससी के पिछले 10 से 15 साल पुराने पेपर को कई बार हल करें इससे आपको यह पता चलता है की यूपीएससी का पेपर कैसा आता है और किस तरह के प्रश्न आते है।

– यूपीएससी की तैयारी करने से पहले आपको यह डिसाइड करना चाहिए की आपको कोचिंग करनी है या सेल्फ स्टडी। अगर आप पहली बार एग्जाम दे रहे हैं तो आपको कोचिंग जरूर लें।

– कोचिंग करने से पहले अच्छी कोचिंग का पता कर लें, कोचिंग के पिछले सालो का रिकार्ड,  सक्सेस रेशियो, फीस और रिव्यू चेक कर लें, इससे आपको उस कोचिंग के बारे में जानकारी मिलने में आसानी हो जाती है।

– आप चाहे तो सेल्फ स्टडी भी कर सकते है लेकिन इसमें आपको बहुत ज्यादा मेहनत की जरुरत होती है।

– यूपीएससी में मेन सब्जेक्ट अपने ग्रेजुएशन वाले सब्जेक्ट को रखें, कभी भी किसी को देख कर या किसी के कहने से हाई सक्सेस वाले सब्जेक्ट का चयन ना करें।

– रोजाना अखबार पढ़ें और कॉम्पिटीटिव मैगजीन और न्यूज और इंटरनेट इत्यादि के माध्यम से देश और दुनिया की जानकारी से अपने आपको अपडेटेड रखें।

– अपने फ्रेंड्स के साथ ग्रुप डिस्कशन जरूर करें, इससे आपको रिवीजन होने के साथ साथ मेन्स और इंटरव्यू के लिए भी काफी ज्यादा मदद मिलती है।

निष्कर्ष –

हम आशा करते है की आपको हमारा लेख यूपीएससी क्या है (upsc kya hai) में दी गई जानकारी पसंद आई होगी, अगर आपको हमारा यह लेख पसंद आया है तो हमारे इस लेख को आधी से अधिक शेयर करें जिससेयह पेज ऐसे इंसानो के पास पहुँच जाएं जिन्हे यूपीएससी के बारे में जानकारी नहीं है।

Leave a Comment