MS Word Kya Hai: What is MS Word in Hindi

MS Word Kya Hai: आज के समय में Microsoft Word का नाम तो सभी ने सुना ही होगा, कॉलेज से लेकर ऑफिस तक सभी जगह पर एमएस वर्ड का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन आज भी काफी सारे इंसान ऐसे है जिन्होंने MS Word का नाम तो सुना हुआ है लेकिन एम एस वर्ड के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती है। अगर आप भी इसके बारे में जनन चाहते है तो हमारा यह लेख आपके लिए फाएदेमंद साबित हो सकता है। आज हम अपने इस लेख में एम एस वर्ड के बारे में बताने जा रहे है, चलिए सबसे पहले हम आपको MS word kya hota hai? इसके बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

MS Word Kya Hai – What is MS Word in Hindi

हालांकि एम एस वर्ड का नाम सभी ने सुना है लेकिन आज भी कुछ लोग ऐसे है जिन्हे यह नहीं पता होता है की एमएस वर्ड क्या है? कंप्यूटर में आप अलग अलग कामो के लिए अलग प्रोग्राम देखते है, इसी तरह टेक्स्ट से सम्बंधित कामो को करने के लिए इसका निर्माण किया गया था। एमएस वर्ड को वर्ड प्रोसेसिंग प्रोग्राम के रूप में जाना जाता है, एमएस वर्ड को पहली बार वर्ष 1983 में Xenix सिस्टम के लिए मल्टी टूल वर्ड नाम से शुरू किया गया था। इसके बाद एमएस वर्ड को अपडेट करते हुए पीसी डॉस,  विंडोज 95 और मैक ओएस एक्स बनाए गए। एम एस वर्ड का इस्तेमाल छोटे मोटे टेक्स्ट वर्क से लेकर बड़े बड़े डाक्यूमेंट्स को बनाने के लिए किया जाने लगा।

आज के समय में वर्ड काफी महत्वपूर्ण हो गया है और आज तक इस जैसा कोई अन्य वर्ड प्रोसेसिंग प्रोग्राम नहीं बन पाया है। आपके डाक्यूमेंट्स को बेहतर और आकर्षित बनाने के लिए एम एस वर्ड के कई तरह के अलग अलग फीचर दिए गए है, जिनकी मदद से आप डॉक्यूमेंट के टेक्स्ट को स्टाइलिश बना सकते है।

MS Word का निर्माण कब और किसने किया था?

ऊपर आपने MS word kya hai के बारे में जाना, अब हम आपको बताते की एमएस वर्ड को कब और किसने बनाया था या एमएस निर्माण किस वर्ष में हुआ और किसने किया था। चलिए अब हम आपको बताते है की वर्ड को किसने बनाया था, एम एस वर्ड का सबसे पहले वर्जन को Charles Simonyi और Richard Brodie नामक प्रोग्रामर ने वर्ष 1983 में बनाया था, माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स और पॉल एलन ने चार्ल्स और रिचर्ड को वर्ष 1981 में हायर किया था। Charles Simonyi और Richard Brodie माइक्रोसॉफ्ट ज्वाइन करने से पहले Xerox के programmers के रूप में काम करते थे। एम एस वर्ड का पहला वर्जन Word 1.0 को Xenix और MS-DOS के लिए बनाया गया था उसके बाद एमएस वर्ड में उसेर्स की जरूरत के हिसाब कई बदलाव किए गए।

Microsoft Word का इतिहास

Microsoft कंपनी ने करैक्टर यूजर इंटरफ़ेस पर आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए एम एस वर्ड का पहला वर्जन बनाया था। एम एस वर्ड बनाने से पहले Charies Simonyi और Richard Brodie developer के रूप में काम करते थे, दोनों Charies Simonyi Brava Software के Primary Developer के रूप में काम करते थे, Charies Simonyi Brava Software को दुनिया का पहला GUI Word Processor के रूप में जाना जाता है। एमएस वर्ड का पहला वर्जन बनाने के बाद माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने शुरुआत में एमएस वर्ड की फ्लॉपी डिस्क फ्री में बांटी थी, जिससे लोगो को इसके बारे में जानकारी प्राप्त हो।

READ ALSO  सीबीसी टेस्ट Kya Hai? CBC Test Full Form in Hindi

जैसे जैसे लोगो ने एमएस वर्ड के बारे में जाना वैसे वैसे इसका इस्तेमाल बढ़ता चला गया, कंपनी ने भी लगातार Microsoft Word में अपडेट करती रही है। फिर वर्ष 1989 में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने MS Word का Version 3.0 रिलीज किया था, धीरे-धीरे Microsoft Word दुनिया भर में काफी लोकप्रिय हो गया। वर्ड की खूबियां देखकर धीरे धीरे इसकी बिक्री शुरू हो गई, माइक्रोसॉफ्ट कंपनी लगातार यूजर की जरूरतों के अनुसार वर्ड में नए नए टूल जोड़ती हुई नजर आई, आज के समय में एमएस वर्ड का उपयोग अधिकतर कामो में किया जाता है।

MS Word में किस किस प्रकार की फाइल बनाई जा सकती है

आज के समय में आप एमएस वर्ड से अलग अलग एक्सटेंशन या प्रकार की फाइल बना सकते है, शुरुआत में Microsoft Word को .doc फ़ाइल extention के रूप में सेव कर सकते थे। उसके बाद कंपनी ने जैसे जैसे वर्ड के नए वर्जन लांच किए वैसे वैसे फाइलों के एक्सटेंशन भी बढ़ाएं, आज के समय में आप वर्ड में .doc, .room, .docx, .dot, .dotm, .dotx, .htm, .html, .mht, .mhtm, .edt, .pdf, .rtf, .txt, .wps, .xps, .xml extention में फाइल को सेव कर सकते है।

MS Word को ओपन कैसे करें

वैसे तो सभी को पता होता है की वर्ड को ओपन कैसे किया जाता है, लेकिन आज भी कुछ लोग ऐसे है जिन्हे कंप्यूटर और कंप्यूटर के प्रोग्रामो के बारे में जानकारी नहीं होती है। अगर आप भी उनमे से एक है तो अब हम आपको एमएस वर्ड को ओपन करने के सबसे आसान तरीके के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

MS Word को ओपन करने का पहला तरीका

अगर आपको MS Word को ओपन करना नहीं आता है तो हम आपको एक ऐसा तरीका बताने वाले है जिससे जानने के बाद आप बेहद आसानी से एमएस वर्ड ओपन करके अपने डाक्यूमेंट्स बना सकते है।

1 – जिस कंप्यूटर पर आप वर्ड ओपन करना चाहते है, सबसे पहले आप उस कंप्यूटर को ऑन कर लें, उसके बाद जब कंप्यूटर खुल जाएं तो आपको कंप्यूटर की होने स्क्रीन पर मौजूद विंडो स्टार्ट के बटन पर क्लिक करना है, आप चाहे तो कीबोर्ड से विंडोज लोगो की को प्रेस करके भी ओपन कर सकते है।

2 – विंडो स्टार्ट के बटन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने सारे काफी सारे ऑप्शन खुलते है, आपको All Programs पर क्लिक करना है।

3 – आल प्रोग्राम पर क्लिक करने के बाद आपके सामने कंप्यूटर के कई सारे प्रोग्राम खुल जाते है फिर आपको Microsoft Office पर क्लिक करना है।

4 – जैसे ही आप माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस पर क्लिक करते है तो आपके सामने माइक्रोसॉफ्ट के प्रोग्राम नजर आते है, आप उसमे से Microsoft Office Word पर क्लिक कर लें, बस अब आपके सामने वर्ड ओपन हो जाएगा।

माइक्रोसॉफ्ट वर्ड ओपन करने का दूसरा तरीका

अब हम आपको एम एस वर्ड ओपन करने का दूसरे तरीके के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

1 – सबसे पहले कंप्यूटर या लेपटॉप को ओपन कर लें, उसके बाद जब कंप्यूटर खुल जाएं और आपके सामने स्क्रीन पर होम पेज दिखाई दे जाएं, तब आपको Windows Start Button पर क्लिक करना है।

2 – जब आप विंडो स्टार्ट बटन पर क्लिक करते है तो आपके सामने “विंडोज सर्च बॉक्स” आ जाता है, आपको इस सर्च बॉक्स में ‘MS word’ टाइप करने के बाद “एंटर” का बटन दबा दें। बस अब आपके सामने एम एस वर्ड ओपन हो चूका है।

READ ALSO  786 का मतलब क्या होता है (786 Ka Matlab Kya Kai)?

 एमएस वर्ड की विशेषताएँ (Features of Ms Word in Hindi)

Microsoft Word की विशेषताओं बहुत सारी है, जिनमे से कुछ फीचर्स के बारे में हम आपको जानकारी उपलब्ध करा रहे है। आज हम जो फीचर्स आपको बताने जा रहे है वो सभी फीचर्स डॉक्युमेंट्स बनाने या एडिट करने में मदद करते है, हालाँकि एम एस वर्ड के फीचर बहुत बढ़ी संख्या में है जिन्हे एक पोस्ट में समझाना पॉसिबल नहीं है, चलिए अब हम आपको कुछ प्रमुख फ़ीचर्स के बारे में बताते है।

1 – Auto Correct  Feature

कई बार जब इंसान कुछ लिखता है तो कई बार स्पेलिंग मिस्टेक हो जाती है, एम एस वर्ड का ऑटो करेक्ट फीचर ऑटोमैटिक गलत लिखे वर्ड्स को सही कर देता है। लेकिन एक बात का खास ख्याल रखें की एम एस वर्ड्स केवल वो शब्द ही ऑटो करेक्ट करता है जो एम एस वर्ड की डिस्क्शनरी में सेव होते है। अगर आप कुछ ऐसे वर्ड्स लिखते है जो एम एस वर्ड की डिक्शनरी में सेव नहीं है तो वो वर्ड करेक्ट नहीं होते है।

2 –  Spelling & Grammer Feature

जब हम कोई भी चीज लिखते है तो लिखते समय कई बार स्पेलिंग या ग्रामर में गलती हो जाती है, Microsoft Word में आपकी इस परेशानी को दूर करने के लिए Spelling and Grammar फीचर दिया गया है, इस फीचर में जब भी आप कोई भी सेंटेंस गलत लिखते है तो एम एस वर्ड सेंटेंस में हुई Grammar Mistake को Red Underline करके इंडिकेशन देता है की यह आपके द्वारा लिखे गए सेंटेंस में यह स्पेलिंग गलत है, आप उसे सही लेख कर सेंटेंस को सही कर सकते है।

3 – Mail Merge Feature

एम एस वर्ड का यह फीचर उन लोगो के लिए बहुत ज्यादा उपयोगी है जिन्हे एडमिट कार्ड या इनविटेशन कार्ड भेजना होता है। दरसल कुछ कामो में एक डाक्यूमेंट्स काफी सारे लोगो को भेजना होता है, एम एस वर्ड ने आपकी इस परेशानी को समझते हुए मेल मर्ज फीचर दिया है। इसमें आप जिन जिन लोगो को डाक्यूमेंट्स भेजना चाहते उन सभी की मेल आईडी मर्ज करके एक बार में सभी को डाक्यूमेंट्स भेज सकते है।

4 – Find and Replace Feature

जब आप कोई भी डाक्यूमेंट्स लिखता है तो कई बार कुछ शब्दों में अगर कुछ बदलाव करना हो या कुछ शब्दों को ढूंढ़ना चाहते है तो एम एस वर्ड में आप आसानी से शब्दों को ढूंढ सकते है। एम एस वर्ड में आपको फाइंड का ऑप्शन मिलता है इसमें आप जिस शब्द को ढूंढ़ना चाहते है उस शब्द फाइंड वाले टेक्स्ट बॉक्स में लिखकर फाइंड कर सकते है। इसके अलावा रिप्लेस ऑप्शन से आप गलत शब्द को बदल सकते है। यह फीचर काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि पुरे डाक्यूमेंट्स में गलत शब्द या जिस शब्द को आप बदलना चाहते है या आप जिस शब्द को ढूंढ रहे है उसे मेनुअली ढूंढ़ना काफी मुश्किल होता है।

5 – Add एंड Delete Page Feature

जब आप कोई भी डॉक्यूमेंट बनाते है तो कई बार डाक्यूमेंट्स बड़ा हो सकता है ऐसे में आप पेज ऐड कर सकते है या आपसे गलती से कोई पेज ऐड हो गया है तो आप आसानी से पेज को डिलीट कर सकते है। एम एस वर्ड ने पेज बढ़ाने या घटाने का काफी आसान तरीका दिया हुआ है।

6 – Table feature

जब आप डाक्यूमेंट्स बनाते है तो कई बार कुछ जगहों पर आपको टेबल ककी जरुरत होती है, एम एस वर्ड में आप आसानी से अपने डाक्यूमेंट्स में टेबल बना सकते है। एम एस वर्ड में टेबल बनाने के साथ साथ कई सारे ऐसे फीचर भी दिए है जैसे टेबल में टेक्स्ट का कलर और फॉण्ट चेंज करना इत्यादि। इन सबका इस्तेमाल करके आप टेबल को सुन्दर और अट्रैक्टिव बना सकते है।

 7 – Equetions and Symbols Feature

अगर आप गणित से सम्बंधित कोई डाक्यूमेंट्स बना रहे है या कोई ऐसा डाक्यूमेंट्स बना रहे है जिसमे गणित की equation या कोई सिंबल ऐड करना है तो आप एम एस वर्ड यह सब आसानी ने कर सकते है। वर्ड में सिंबल के साथ साथ Equations के फीचर दिए गए है।

READ ALSO  302 Dhara Kya Hai (धारा 302 क्या है)? धारा 302 में क्या सजा हो सकती है?

8 – Style and Font feature

एम एस वर्ड में डाक्यूमेंट्स बनाते समय आप टेक्स्ट का Style और Font का कलर और Style आसानी से बदल सकते है। जिससे आपका डाक्यूमेंट्स देखने में स्टाइलिश लगता है, आप जिस टेक्स्ट को अलग से शो करना चाहते है उस टेक्स्ट का कलर और साइज भी आसानी से बदल सकते है।

9 – Numbering and List feature

डाक्यूमेंट्स बनाने में नंबरिंग और लिस्ट की जरुरत भी पढ़ती है, इसी जरुरत को समझते एस एम वर्ड में यह दोनों फीचर भी ऐड किए गए है, जिनसे आप आसानी से अपने डॉक्यूमेंट में नंबरिंग या लिस्ट बना सकते है।

10 – Password Feature

कुछ डाक्यूमेंट्स ऐसे होते है जिन्हे आप सुरक्षित रखना चाहते है या आप चाहते है की उन्हें आप ही खोल कर देख सके या जिसे आप चाहे वो ही उस डाक्यूमेंट्स को देख सके। एम एस वर्ड में आपके डाक्यूमेंट्स को सुरक्षित रखने के लिए पासवर्ड की सुविधा भी दी गई है, जिससे पासवर्ड लगे डाक्यूमेंट्स को केवल वो ही देख सकता है जिसे डाक्यूमेंट्स का पासवर्ड पता होता है।

11 –  Pdf File Feature

आज के समय पीडीएफ का इस्तेमाल काफी बाद गया है, पीडीएफ का सबसे बड़ा फायदा यह है की आप इसे एडिट नहीं कर सकते है। एम एस वर्ड ने इन सब चीजों का ख्याल रखते हुए पीडीएफ फाइल का ऑप्शन भी दिया है, जब आप अपने डॉक्यूमेंट को सेव करते है तो आपके सामने कई ऑप्शन खुलते है जिनमे से एक पीडीएफ का भी है, आप पीडीएफ सेलेक्ट करके सेव कर दें, बस आपका डाक्यूमेंट्स पीडीएफ में सेव हो जाता है।

12 – Drawing Feature

अगर आप चाहे तो अपने डाक्यूमेंट्स में इस फीचर का इस्तेमाल कर सकते है, अगर आपको अपने डाक्यूमेंट्स में कही पर त्रिभुज, व्रत और गोला इत्यादि की जरुरत है तो एम एस वर्ड में टूलबार दिया हुआ है जिससे आप आसानी से इमेज बना सकते है और आप चाहे तो उसमे रंग भी भर सकते है। एम एस वर्ड का यह फीचर बहुत ही शानदार और उपयोगी है।

एमएस वर्ड के उपयोग (Uses Of Ms Word in Hindi)

MicroSoft Word के उपयोग विभिन्न में क्षेत्रों में अलग-अलग उद्देश्यों से किया जाता है। यहाँ हम सबसे ज्यादा उपयोग किया जाने वाले उपयोगो के बारे में जानेंगे।

1 – शिक्षा क्षेत्र में एम एस वर्ड का इस्तेमाल

आज के समय में स्कूल से लेकर कॉलेज तक एम एस वर्ड का इस्तेमाल हो रहा है। पहले के समय स्कूल और कॉलेज में असाइनमेंट कॉपी में बनते थे लेकिन अब जमाना इंटरनेट का है ऐसे में कॉलेज और स्कूल में डाक्यूमेंट्स और असाइनमेंट के लिए MS Word का उपयोग किया जा रहा है। इसके अलावा टीचर एम एस वर्ड पर Question Paper भी तैयार कर सकते है।

2 – फ्रीलांसिंग जॉब में

आज के समय आप ऑनलाइन काम करके भी अच्छे पैसे कमा सकते है, टाइपिंग से लेकर डाक्यूमेंट्स बनाने का काम आप कर सकते है। ऐसे सभी कामो के लिए एम एस वर्ड का इस्तेमाल किया जाता है। आपको काफी सॉरी जॉब पोर्टल साईट पर टाइपिंग और वर्ड की जॉब देखने को मिल सकती है, जिनमे से आप अपनी स्किल के अनुसार जॉब को कर सकते है।

3 – एम एस वर्ड का इस्तेमाल रिज्यूम या बायोडाटा बनाने में

आप जब किसी भी जॉब के लिए जाते है या जॉब के लिए अपलाई करते है तो सबसे पहले आपका रिज्यूम माँगा जाता है। आप ऐसे भी समझ सकते है की जब भी आप किसी जॉब पोर्टल साईट पर किसी जॉब के लिए अप्लाई करते है तो आपको अपना रिज्यूम ऑनलाइन भेजना होता है। रिज्यूम बनाने के लिए एम एस वर्ड का इस्तेमाल किया जाता है, इसके अलावा किसी भी लड़के या लड़की का बायोडाटा भी वर्ड में ही बनाया जाता है।

4 –  बुक लिखने में

पहले के जमाने में राइटर अपनी बुक कॉपी में लिखते थे लेकिन अब जमा बदल गया है आज राइटर अपनी बुक एम एस वर्ड पर लिखते है। वर्ड में बुक लिखने के फायदे भी बहुत ज्यादा है क्योंकि वर्ड में काफी सारे ऐसे फीचर दिए हुए है जिनसे आप अपनी बुक के हैडिंग को आकर्षित बना सकते है। इसके अलावा बुक में जो भी लाइन या पार्ट को भी अलग स्टाइल से लिख सकते है।

निष्कर्ष

हम आशा करते है की आपको हमारे लेख ms word kya hai? में दी गई जानकारी पसंद आई होगी। MS word के बारे में पूरी जानकारी एक लेख में देना पॉसिबल नहीं है इसीलिए हमने आपको महत्वपूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है। अगर आपको हमारा यह लेख पसंद आया है तो अपने दोस्तों के साथ हमारा यह पेज शेयर जरूर करें।

Leave a Comment