इंटरनेट Kya Hai? इंटरनेट से लाभ और हानि क्या है?

इंटरनेट क्या है: आज के समय में इंटरनेट के बिना जिंदगी जीना काफी मुश्किल हो गया है, इंसान अपनी अधिकतर परेशानियो का सोल्युशन इंटरनेट से प्राप्त कर सकता है। एक समय था जब इंटरनेट चलाने के लिए बहुत अधिक पैसे देने पड़ते थे, लेकिन आज इंटरनेट चलाने की कीमत काफी कम हो गई है। इंटरनेट का इस्तेमाल तो लगभग सभी करते है लेकिन इंटरनेट कया है?( what is internet in hindi) इंटरनेट की खोज किसने की थी? इत्यादि के बारे में जानकारी बहुत कम इंसानो को होती है। अगर आप भी इंटरनेट के बारे में जानकारी नहीं है तो हमारा यह पेज आपके लिए बहुत ज्यादा लाभकारी साबित होने वाला है क्योंकि आज हम अपने इस लेख में इंटरनेट के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

Table of Contents

इंटरनेट क्या है | What Is Internet in Hindi | इंटरनेट kya hai

इंटरनेट को आप एक ग्लोबल कंप्यूटर नेटवर्क कह सकते है, जिसमे पूरी दुनिया के कंप्यूटर एक नेटवर्क के माध्यम से जुड़े होते है। इंटरनेट की मदद से आप आसानी से टेक्स्ट, ऑडियो, वीडियो, पीडीएफ इत्यादि जानकारी शेयर कर सकते है या डाउनलोड कर सकते है। आप आसानी से एक जगह बैठ कर दुनिया के किसी भी कोने के कंप्यूटर से आसानी से जुड़ सकते है, आज के समय में वीडियो कॉल के माध्यम से आप आसानी से किसी भी इंसान से कनेक्ट हो सकते है, यह सब इंटरनेट की मदद से ही संभव हो पाया है। आम भाषा में आप इंटरनेट को ऐसे समझ सकते है इंटरनेट एक ऐसा नेटवर्क का जाल है, जिसकी वजह से आप आसानी से कहीं पर भी बैठ कर किसी भी अन्य कंप्यूटर से जुड़ सकते है। हालाँकि इंटरनेट का मालिक कोई नहीं है और ना ही इंटरनेट को कोई इंसान चलाता है, आज के समय में इंटरनेट को अलग अलग Private Company और Organization चलाती है। हर एक कम्पनी अलग अलग पैकेज बनती है आप अपनी सुविधा के अनुसार इंटरनेट का कनेक्शन ले सकते है, इंटरनेट के फायदे अनगिनत है, अगर आपको इंटरनेट के फायदों के बारे में जानकारी नहीं है नीचे हमने इंटरनेट के फायदे के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई है, चलिए अब हम आपको बताते है की इंटरनेट की खोज किसने की थी? 

इंटरनेट की खोज किसने की | इंटरनेट का आविष्कार किसने किया

इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाले अधिकतर इंसानो के मन में यह सवाल होता है की इंटरनेट की खोज किसने की है, तो हम आपको बता दें की इंटरनेट की खोज किसी एक इंसान ने नहीं की है। इंटरनेट की खोज करने में बहुत Scientists,  Engineers,  and Programmers का अहम् योगदान है, उन सभी की मेहनत और योगदान की वजह से आज हम इंटरनेट का इस्तेमाल कर पा रहे है। इंटरनेट का इस्तेमाल सबसे पहले अमेरिका सेना द्वारा पेंटागन में अमेरिकी रक्षा विभाग में किया गया था, वर्ष 1957 में अमेरिका ने Advanced Research Projects Agency की स्थापना करी थी, इस एजेंसी का मुख्य काम ऐसी तकनिकी का निर्माण करना था जिससे दुनिया भर के सभी कंप्यूटर को एक दूसरे के साथ आसानी से जोड़ा जा सके।  फिर इसके बाद वर्ष 1969 में ARPANET की स्थापना हुई, अर्पानेट के माध्यम से आसानी से सभी कंप्यूटर को एक दूसरे के साथ जोड़ा जा सकता था फिर वर्ष 1980 तक अर्पानेट का नाम बदलकर इंटरनेट हो गया था। ऐसा माना जाता है दुनिया में सबसे पहले इंटरनेट की खोज करने वाले Vint Cerf और Robert Elliot Kahn थे, इन्होने TCP/IP प्रोटोकॉल का अविष्कार करा था।

READ ALSO  Dialysis Kya Hota Hai? डायलिसिस के प्रकार | डायलिसिस के फायदे और नुकसान

इंटरनेट का इतिहास (History of Internet in hindi)

यह तो आप समझ ही गए होंगे की इंटरनेट का आविष्कार और सबसे पहले इस्तेमाल अमेरिकी सेना के लिए हुआ था। दरसल शीत युद्ध के समय अमेरिकी सेना पर कोई ऐसी तकनीक नहीं थी जिससे अमेरिकी सेना आपस में कनेक्टेड रह सके, इस स्थिति में अमेरिकी सेना को एक बेहतरीन और ट्रस्टेड संचार सेवा की जरुरत थी, इसीलिए वर्ष 1969 में ARPANET Network को विकसित किया गया था। शुरुआत में अर्पानेट नेटवर्क की मदद से चार कंप्यूटर को जोड़ें गए थे, चारो कंप्यूटर ने आपस में जुड़ कर बिलकुल सही काम किया उसके बाद धीरे धीरे इस तकनीक को बढ़ाना शुरू कर दिया और वर्ष 1972 में लगभग 38 कंप्यूटर को इस तकनीक के साथ जोड़ कर देखा गया, सभी कंप्यूटर आपस में सफलतापूर्वक कनेक्ट हो गए थे। धीरे धीरे इस तकनीक का विस्तार करते हुए इसे नॉर्वे और इंग्लैंड तक फैला दिया गया था और वर्ष 1974 में Arpanet का इस्तेमाल आम लोगो को करने को मिला, शुरुआत में इसका नाम टेलनेट रखा गया था। शुरुआत में आम लोगो के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करने के लिए कुछ नियम भी बनाये गए थे, इंटरनेट का इस्तेमालकरने के लिए बनाए गए नियमो को Protocol कहा गया था।

भारत में इन्टरनेट कब शुरू हुआ था?

ऊपर आपने पढ़ा की इंटरनेट की खोज कब हुई, इंटरनेट की खोज के काफी सालो बाद इंटरनेट का इस्तेमाल आम लोगो ने किया था। भारत में 14 अगस्त वर्ष 1995 को इंटरनेट की शुरुआत आम लोगो के लिए शुरू हुई थी, भारत में विदेश संचार निगम लिमिटेड द्वारा इंटरनेट सर्विस की सुविधा उपलब्ध कराई गई थी।

इंटरनेट के फायदे (Benefits of Internet in hindi)इंटरनेट के लाभ

जब से इंटरनेट की शुरुआत आम लोगो के लिए हुई है, तभी से आम इंसानो की बहुत सारी समस्यां दूर होने के साथ साथ अनगिनत फाएदे भी हुए है। चलिए अब हम आपको इंटरनेट के फायदे (Benefits of Internet in hindi) के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

1. जॉब ढूंढ़ना हुआ आसान

इंटरनेट के आने से पहले इंसान के लिए जॉब ढूंढ़ना बहुत ज्यादा मुश्किल होता था, इंसान को जॉब का पता करने के लिए कम्पनी तो कम्पनी जाना पड़ता था। लेकिन जब से इंटरनेट का इस्तेमाल शुरू हुआ तब से जॉब ढूँढना काफी आसान हो गया है, आज के समय में काफी सारी ऐसी वेबसाइट उपलब्ध है जो आपको जॉब्स की जानकारी उपलब्ध कराती है, इन वेबसाइट पर आप लोकेशन और अपने हिसाब से नौकरी ढूंढ कर अप्लाई भी कर सकते है। आज आप आसानी से अपने मोबाइल या लैपटॉप से अपने क्षेत्र की जॉब ढूंढ कर अप्लाई कर सकते है, बस इसके लिए आपको नौकरी वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करके अपने रिज्यूम अपलोड करके जरुरी जानकारी भरनी है, बस उसके बाद अपनी पसंद की जॉब को अप्लाई कर सकते है।

2 – ऑफिस वर्क ऑनलाइन करना या घर से काम करना

कोरोना के बारे तो शायद ही किसी को बताने की जरुरत हो कोरोना काल में घर से निकलना मुमकिन नहीं था, ऐसे में बहुत सारी बड़ी बड़ी कम्पनियो ने अपने कर्मचारियो को घर से काम करने को कहा था। कर्मचारी ऑनलाइन काम करके कम्पनी को भेज देते थे सोचिए अगर इंटरनेट ना होता तो कया होता, सभी कर्मचारी घर बैठ जाते और सभी के सामने आर्थिक संकट आ जाता और कम्पनियां बंद हो जाती। इसके अलावा आज एक समय में बहुत सारे ऐसे पुरुष या महिला है जो बहार जाकर काम नहीं कर सकते है ऐसे इंसान अपनी स्किल के अनुसार ऑनलाइन काम ढूंढते है, फिर अपनी स्किल के अनुसार काम करके घर पैठे पैसा कमा रहे है। 

3 – ऑनलाइन बिल जमा करना

पहले के जमाने में या जब इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध नहीं थी तब आम इंसान को बिजली का बिल, टेलीफोन का बिल, पानी का बिल इत्यादि को भरने के लिए आपको उस विभाग के ऑफिस में जाकर जमा करना पड़ता था। जिसके लिए इंसानो को लाइन में लगना पड़ता था, कई बार तो इंसान को बिल जमा करने में घंटो लग जाते थे, लेकिन जब से इंटरनेट आया है उसके बाद से अधिकतर बिल आसानी से ऑनलाइन जमा कर सकते है, आज के समय में इंसान को अपनी जरूरतों के सभी बिल को भरने में कुछ मिंटो का समय लगता है। लगभग सभी बिलो को ऑनलाइन जमा करने की सुविधा विभाग द्वारा उपलब्ध कराई जा रही है बस आपको आपने ऑनलाइन पेमेंट अप्प या नेट बैंकिंग या विभाग की वेबसाइट पर जाकर पेमेंट करना है।

READ ALSO  Muharram Kyu Manaya Jata Hai? मुहर्रम का इतिहास

4 – ऑनलाइन पैसे कमाना

आज के समय में आपको इंटरनेट पर बहुत सारी ऐसी वेबसाइट या अप्प मिलती है, जिनसे आप पैसा कमा सकते है। आप अपनी स्किल के अनुसार प्रोजेक्ट ढूंढ सकते है, इसके अलावा आज के समय में ऐसे कई सारे प्लेटफॉर्म उपलब्ध है जहाँ से आप पैसा कमा सकते है जैसे Blogging और YouTube इत्यादि। बहुत सारे पुरुष और महिला ब्लॉग और वीडियो बना कर काफी पैसे कमा रहे है, यह सब इसीलिए हो रहा है क्योंकि आज इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध है।

5 – ऑनलाइन चीजें खरीदना या बेचना हुआ आसान

जब इंटरनेट नहीं था तब आपको सामान खरीदने के लिए बाजार जाना पड़ता था या आपको कोई सामान बेचना है तो उसके लिए भी आपको दूकान पर जाना पड़ता था। लेकिन जब से इंटरनेट आया तब से आपके लिए सामन खरीदना या बेचना बहुत आसान हो गया है, आज के समय में बहुत सारी ऐसी वेबसाइट उपलब्ध है जिन पर आप आसानी से सामान खरीद या बेच सकते है। कपड़े, जूते, घर का जरुरी सामान इत्यादि को खरीदने के लिए बाजार जाने की जरुरत नहीं है आज आप आसानी से ऑनलाइन सामान आर्डर कर सकते है जो कुछ दिनों में सीधे आपके घर पहुँच जाता है। सामान के पैसे आप ऑनलाइन या सामान आने पर कर सकते है, आप चाहे तो अपने दोस्त या रिश्तेदारों को ऑनलाइन गिफ्ट भी भेज सकते है, ऐसे सभी काम को करने के लिए आपको कहीं जाना नहीं पड़ेगा, आप यह सभी काम आसानी से घर बैठे ही कर सकते है। इसके अलावा आज के समय में काफी सारी ऐसी वेबसाइट भी है जिन पर आप अपना सामान बेच सकते है। 

6 – एंटरटेनमेंट के लिए

इंटरनेट की मदद से आप आज कोई सा भी सीरियल, मूवी और मैच इत्यादि कभी भी देख सकते है, लेकिन जब इंटरनेट नहीं था उस जमाने में एक निश्चित समय पर फिल्म और सीरियल आते थे। किसी भी वजह से आप उस समय पर उस सीरियल या मूवी को नहीं देख पाए तो फिर आप उसे दोबारा नहीं देख पाते थे। जब से इंटरनेट की सुविधा आई है तब से आप अपने पसंदीदा सीरियल और मूवी को जब चाहे तब देख सकते है, कई सारी वेबसाइट आपको आपके पसंदीदा सीरियल देखने की सुविधा उपलब्ध कराते है।

7 –  बिजनेस बढ़ाने में

जब इंटरनेट उपलब्ध नहीं था तो उस समय लोगो को अपने बिजनेस का प्रमोशन करने के लिए अलग अलग जगह पर बैनर लगाने पड़ते थे, जिसका खर्च भी बहुत ज्यादा आता था। लेकिन जब से इंटरनेट आया है तब से बिजनेस का प्रमोशन करना काफी आसान हो गया है, आज के समय में आप आसानी से अपने बिजनेस के प्रोडक्ट के हिसाब से प्रमोट कर सकते है। आप कहे तो अपने बिजनेस की वेबसाइट बना कर अपने बिजनेस को प्रमोट कर सकते है, इसके अलावा कई सारे Marketing के ऑप्शन मौजूद है जिनसे आप अपने बिजनेस को प्रमोट कर सकते है।

इंटरनेट के नुकसान (Disadvantages of Internet in hindi) – इंटरनेट से हानि

जिस तरह से इंटरनेट के फायदे है उसी तरह से इंटरनेट के बहुत सारे नुक्सान भी होते है। वैसे इंटरनेट के फायदे ज्यादा है लेकिन इंटरनेट का अधिक या गलत इस्तेमाल की वजह से कुछ नुक्सान भी होते है। चलिए अब हम आपको इंटरनेट के नुकसान (Disadvantages of Internet in hindi) के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

1 – समय का दुरुपयोग होना

इंटरनेट जब से आया है तब से लोगो ने इंटरनेट पर काफी समय बिताना शुरू कर दिया है, हालाँकि कुछ लोग काम की वजह से इंटरनेट पर अधिक समय बिताते है लेकिन कुछ लोग बिना काम के घंटो घंटो इंटरनेट का इस्तेमाल करते है। ऐसे में आप अपने जीवन का कीमती समय बर्बाद कर रहे है, इसीलिए अगर आपका इंटरनेट पर कोई काम नहीं है तो आपको इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इंटरनेट की लत आपके जीवन को ख़राब कर सकती है, खासकर बच्चो और नोजवानो को ऑनलाइन गेम और सोशल मीडिया से दुरी बनाकर रखनी चाहिए, आजकल बहुत सारे बच्चे घंटो इंटरनेट का इस्तेमाल करते रहते है जिसकी वजह से उनकी पड़े का बहुत ज्यादा नुक्सान होता है।

READ ALSO  Vaishvikaran Kya Hai और यह व्यवसाय की दुनिया को कैसे प्रभावित करता है?

2 – इंटरनेट का दुरूपयोग

आज के समय पर सोशल मीडिया का इस्तेमाल बहुत ज्यादा बढ़ गया है, अधिकतर महिला या पुरुष सोशल मीडिया पर अपने फोटो और वविदेओ शेयर करते है। यह तो आप अच्छी तरह से जानते है की सोशल मीडिया पर आपकी फोटो और वीडियो बेहद कम समय वाइरल हो जाती है, ऐसे कोई इंसान आपकी फोटो और वीडियो का इस्तेमाल गलत करने में भी इस्तेमाल कर सकता है, इसीलिए सोशल मीडिया पर फोटो और वीडियो देख कर और सोच समझ कर अपलोड करें इसके साथ साथ सिक्युरिटी का भी खास ख्याल रखें।

3 – इंटरनेट चार्ज 

इंटरनेट चलाने के लिए आपको कुछ चार्ज देना होता है, कुछ लोग घर में वाई फाई लगवा लेते है, जिसके लिए उन्हें पैसे देने होते है। अगर आपका कोई काम इंटरनेट पर नई है तो आपको वाई फाई बिलकुल नहीं लगना चाहिए, अगर आप बिना काम के इंटरनेट का कनेक्शन लेते है तो यह फिजूलखर्ची है। इसके अलावा जब इंटरनेट कनेक्शन लगा होता है तो इंसान और ज्यादा समय इंटरनेट पर बिताता है, बच्चे भी इंटरनेट पर बहुत ज्यादा समय बितताते है। इंटरनेट पर बहुत सारी वेबसाइट ऐसी होती है जो बच्चो के दिमाग पर नकारात्मक प्रभाव डालता है, इसीलिए हम आपको सलाह देंगे की अगर आपके यहां इंटरनेट का कोई काम नहीं है तो इंटरनेट का कनेक्शन बिलकुल ना लगवाएं।

4 – पर्सनल डाटा चोरी होने का खतरा

आज के समय में आपने बहुत सारी ऐसी कम्पनियां देखि होगी जो अलग अलग सेक्टर के लोगो का डाटा बेचती हुई नजर आती है, लेकिन कया आप जानते है की वो डाटा उनके पास कैसे  आता है, दरसल जब आप किसी भी वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करने के लिए अपनी डिटेल भरते है तो आपकी वो डिटेल कम्पनी के डाटा बेस में सेव हो जाती है। ऐसे में कंपनियां पर्सनल डाटा को दूसरी कंपनियों को बेच देती है, कुछ मामलो में आपकी डिटेल की मदद से आपके साथ फ्रॉड भी किया जा सकता है।

5 – स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव

आपने काफी सारे इंसान ऐसे देखें होंगे जो देर रात तक इंटरनेट का इस्तेमाल करते है, हालाँकि कुछ तो ऑफिस का काम करने के लिए देर रात तक इंटरनेट का इस्तेमाल करते है लेकिन कुछ लोग बिना किसी कार्य के इंटरनेट पर घंटो समय बिताते है जिसका नकारात्मक असर उनके शरीर पर पड़ता है। लगातार मोबाइल या लैपटॉप पर काम करने से आँखों में दर्द की समस्या हो सकती है, इसीलिए लगातार ज्यादा देर तक मोबाइल या लेपटॉप पर काम करने से बचें अगर काम करना जरुरी है तो थोड़े थोड़े समय अंतराल पर ब्रेक जरूर लें।

इंटरनेट की सबसे पहली वेबसाइट

आज के समय इंटरनेट पर लाखो वेबसाइट उपलब्ध है, आज आपको हर परेशानी का समाधान इंटरनेट पर मिल जाएगा, लेकिन कया आप जानते है की इंटरनेट की पहले वेबसाइट कौन सी थी या इंटरनेट की पहली वेबसाइट का नाम कया है या इंटरनेट की पहली वेबसाइट का यूआरएल कया है ? चलिए हम आपको इसके बारे में बताते है, दरसल इंटरनेट की पहली वेबसाइट का निर्माण टीम नामक इंसान ने किया था जो एक ब्रिटिश कंप्यूटर साइंटिस्ट थे और उनका पूरा नाम Tim Berners-Lee है। टीम का जन्म लंदन में वर्ष 1955 को हुआ था, उस समय पर एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर तक डाटा ट्रांसफर करने में बहुत अधिक समय लगता था, इस समस्या का समाधान करने के लिए Tim Berners Lee ने वर्ष 1991 में दुनिया की पहली वेबसाइट का निर्माण किया, जिसका नाम http://info.cern.ch/ था और इसका यूआरएल http://info.cern.ch/hypertext/WWW/TheProject.html था।

इंटरनेट स्पीड टेस्ट – Internet Speed Test Kaise Karen

अब आप अपने लैपटॉप और मोबाइल से बहुत ही आसानी से इंटनेट की स्पीड चेक केर सकते है, इसके लिए सबसे पहले आपको Google सर्च इंजन ओपन करना होगा फिर उसमे speed test टाइप कर के सर्च पे क्लिक करना होगा। अब आपके सामने सबसे उपर में search result में RUN SPEED TEST का ऑप्शन दिखेगा उसपे क्लिक कर के आप अपने इंटनेट की स्पीड चेक केर सकते हैं।

निष्कर्ष –

हम आशा करते है की आपको हमारे लेख इंटरनेट कया है (what is internet in hindi) में दी गई जानकारी पसंद आई होगी, अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई है तो इसे अधिक से अधिक शेयर करें।

Leave a Comment