Credit Card Kya Hota Hai? क्रेडिट कार्ड के फायदे और नुकसान

Credit Card Kya Hota Hai: आज के समय में काफी सारे इंसानो के पास क्रेडिट कार्ड होता है, लेकिन आज भी अधिकतर इंसान ऐसे है जिनके पास क्रेडिट कार्ड नहीं होता है। जिन लोगो के पास क्रेडिट कार्ड नहीं होता है उनके मन क्रेडिट कार्ड को लेकर काफी सवाल होते है जैसे credit card kya hota hai, क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाएं इत्यादि। अब हम आपको क्रेडिट कार्ड के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध करा रहे है जिससे आपको क्रेडिट कार्ड के बारे में अधिक से अधिक जानकारी मिलने वाली है, चलिए सबसे पहले हम आपको बताते है की क्रेडिट कार्ड क्या होता है?

क्रेडिट कार्ड क्या होता है (Credit card kya hota hai)?

हालाँकि क्रेडिट कार्ड का नाम तो लगभग सभी ने कभी ना कभी जरूर सुना होगा, लेकिन आज भी बहुत सारे लोग ऐसे होते है जिन्हे क्रेडिट कार्ड का नाम तो पता होता है लेकिन क्रेडिट के बारे में उन्हें कुछ भी जानकारी नहीं होती है। चलिए हम आपको क्रेडिट कार्ड के बारे में जानकारी उपलब्ध कराते है, देखने में क्रेडिट कार्ड बिलकुल डेबिट कार्ड या एटीएम कार्ड की तरह ही होता है, लेकिन इन दोनों में काफी ज्यादा फर्क होता है। दरसल क्रेडिट कार्ड को आप बैंक की तरफ से दी हुई एक विशेष सेवा भी कह सकते है, क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल आप शॉपिंग से लेकर बिल का भुगतान करने तक कर सकते है। मान लीजिए आप कहीं पर शॉपिंग करने गए है लेकिन आप पैसे लेकर नहीं गए है या आपके पास पैसे कम पड़ गए है, इस स्थिति में आप क्या करेंगे, आप सामान बिना खरीदें घर वापिस आ जाएंगे, लेकिन अगर आपके पास क्रेडिट कार्ड है तो आप इससे आसानी से अपने बिल का भुगतान कर सकते है। क्रेडिट कार्ड की मदद से आप आसानी दुकानदार के बिल का भुगतान कर सकते है, बस दुकानदार के पास Swipe machine होनी चाहिए, स्वाइप मशीन में क्रेडिट कार्ड को स्वाइप करके बिल का भुगतान किया जाता है। इसीलिए क्रेडिट कार्ड को बहुत उपयोगी माना जाता है, अगर आपके पास क्रेडिट कार्ड है तो एक बात का खास ख्याल रखें की क्रेडिट कार्ड की एक लिमिट होती है, आप क्रेडिट कार्ड की लिमिट तक पैसे का उपयोग कर सकते है। लिमिट से ऊपर पहुँचते ही आपका कार्ड किसी भी तरह का भुगतान नहीं कर सकता है, क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान करने के बाद आप अपने क्रेडिट कार्ड फिर से इस्तेमाल कर सकते है। क्रेडिट कार्ड से किए भुगतान को जमा करने के लिए बैंक आपको एक महीने का समय देती है, महीने के अंत तक अगर आप बिल का भुगतान नहीं करते है तो आपके ऊपर पेनल्टी लग जाती है। क्रेडिट कार्ड को आप एक प्रकार का लोन भी कह सकते है जिसमे आपको लोन की रकम ब्याज के साथ महीने के अंत में वापस देनी होती है। क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों जगह किया जा सकता है, क्रेडिट कार्ड काफी फायदेमंद है लेकिन क्रेडिट कार्ड के कुछ नुक्सान भी होते है। अगर आप क्रेडिट कार्ड का उपयोग सही से करते है तो क्रेडिट कार्ड आपके लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद है। 

Debit Card और Credit Card में क्या अंतर है

काफी सारे लोगो को लगता है की डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड एक ही होता है, हालाँकि यह सच नहीं है क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में काफी अंतर होता है। दिखने में भले ही क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड एक जैसे होते है लेकिन इनके उपयोग काफी अलग अलग है, चलिए अब हम आपको डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में क्या अंतर होता है इसके बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

READ ALSO  15 August Kyu Manaya Jata Hai? 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में क्यों चुना गया?

1 – क्रेडिट कार्ड किसी बैंक खाते से जुड़ा हुआ नहीं होता है और डेबिट कार्ड आपके सेविंग या करेंट बैंक अकाउंट से जुड़ा हुआ होता है।

2 – डेबिट कार्ड से आप पैसे का लेन देन तभी कर सकते है जब आपके खाते में पैसे हो, लेकिन क्रेडिट कार्ड में आप पैसे पहले खर्च कर सकते है उसके बाद बैंक में खर्च किए गए पैसे जमा कर सकते है।

3 – डेबिट कार्ड सभी खाता धारक को मिलता है, लेकिन क्रेडिट कार्ड केवल उन्ही लोगो को मिलता है जिनकी सैलेरी काफी अच्छी हो या उनका खुद का बिजनेस हो या उनके पास अच्छी अर्निंग का कोई साधन हो, क्रेडिट कार्ड लेने के लिए आपको अलग से आवेदन करना होता है।

4 – डेबिट कार्ड के द्वारा किए गए खर्च का हिसाब किताब रखने की जरुरत नहीं होती है लेकिन क्रेडिट कार्ड के द्वारा आप जो भी खर्च करते है उसका बिल बैंक आपको भेजता है जिसका भुगतान आपको महीने के अंत तक करना होता है।

क्रेडिट कार्ड कितने दिन में बनता है?

कोई भी इंसान जब क्रेडिट कार्ड बनवाने के बारे में सोचता है की तो उसके मन में यह सवाल जरूर आता है की क्रेडिट कार्ड कितने दिन में बन जाता है। क्रेडिट कार्ड ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से बनता है और सभी बेंको के क्रेडिट कार्ड बनाने का प्रोसेस लगभग एक जैसा ही है। क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करने के बाद अगर आपके डाक्यूमेंट्स में किसी प्रकार की कोई कमी या गलती नही है तो 4 से 5 दिन बाद बैंक की तरफ से क्रेडिट कार्ड वेरिफिकेशन कॉल आती है, वेरिफिकेशन के बाद आपका क्रेडिट कार्ड इश्यू कर दिया जाता है। अगले दो से तीन दिन में क्रेडिट कार्ड आपके एड्रेस पर भेज दिया जाता है।

क्रेडिट कार्ड बना है या नही बना कैसे चेक करें?

क्रेडिट कार्ड को बनने को लगभग 8 से 10 दिन का समय लगता है, आपका क्रेडिट बना है या नहीं, इसे आप ऑनलाइन चेक कर सकते है। जिस भी बैंक का क्रेडिट कार्ड ले रहे है उस बैंक की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर बैंक के क्रेडिट कार्ड के अकाउंट में जाकर क्रेडिट कार्ड का स्टेटस चेक कर सकते है। क्रेडिट कार्ड को ट्रैक करके आप अपने कार्ड की लोकेशन के बारे में भी जान सकते है, हालाँकि जब बैंक की तरफ से आपका क्रेडिट कार्ड इश्यू होता है तो आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक मैसेज आता है। उस मैसेज में Tracking Code भी होता है जिसकी मदद से आप अपने क्रेडिट कार्ड को आसानी से ट्रैक कर सकते है। 

क्रेडिट कार्ड के प्रकार (Type of Credit Card In Hindi)

ऊपर आपने क्रेडिट कार्ड के बारे में जाना, लेकिन क्या आप जानते है की क्रेडिट कार्ड भी अलग अलग तरह के होते है। आज के ज़माने में लगभग क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराने वाली बैंक अलग अलग काम के लिए अलग क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराती है, चलिए अब हम आपको कुछ क्रेडिट कार्ड के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

1 – Shopping Credit Card

ऐसे पुरुष या महिला जो काफी ज्यादा शॉपिंग करते है या शॉपिंग करना पसंद करते है, उन्हें शॉपिंग क्रेडिट कार्ड जरूर लेना चाहिए। क्योंकि शॉपिंग क्रेडिट कार्ड से ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीददारी करने पर आपको काफी अच्छा डिस्काउंट मिलता है। यह कार्ड खासतौर पर शॉपिंग के लिए ही बनाया गया है।

2 – Travel Credit Card

अगर आप काफी ज्यादा ट्रेवलिंग करते है तो आपको ट्रेवलिंग क्रेडिट कार्ड जरूर लेना चाहिए, इस क्रेडिट कार्ड का निर्माण खासतौर पर ऐसे लोगो के लिए ही किया गया है जो घूमने फिरने का शोक रखते है और काफी ज्यादा ट्रेवल करते है। ट्रैवलिंग क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल आप एयरलाइन, बस, रेल और कैब इत्यादि की बुकिंग करने में कर सकते है, इस क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने से आपको बुकिंग के प्राइस में डिस्काउंट भी मिलता है।

READ ALSO  Dhara 370 Kya Hai (धारा 370 क्या है)? | आर्टिकल 370 कब लागू हुआ था?

3 – Fuel Credit Card

आज के समय में शायद ही कोई इंसान हो जिसके पास या जिसके घर में कोई वाहन ना हो, ऐसे में इंसान को हर दिन या दूसरे दिन फ्यूल की जरुरत होती है। यह तो हम सभी जानते है की फ्यूल में किसी भी प्रकार का डिस्काउंट नहीं मिलता है। कई सारी बेंको ने लोगो की इस परेशानी को देखते हुए फ्यूल क्रेडिट कार्ड का निर्माण किया है यह कार्ड उन लोगो के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी है जिन्हे फ्यूल की जरुरत काफी ज्यादा होती है। इस क्रेडिट कार्ड की मदद से आप फ्यूल जैसे पेट्रोल और डीजल इत्यादि के प्राइस में छूट प्राप्त कर सकते है।

4 – Entertainment Credit Card

अगर आप मनोरंजन से सम्बंधित खर्चों से परेशान है और आप अपने खर्चो को कम करना चाहते है या मनोरंजन के साधनो के टिकट पर छोट पाना चाहते है तो आपको Entertainment Credit Card जरूर लेना चाहिए। इस कार्ड को लेने के बाद आपको मूवी टिकट और मनोरंजन पार्क टिकट इत्यादि में Discount और नए नए ऑफर मिलते है। जिससे आपका खर्च कुछ हद तक कम हो सकता है।

5 – Reward Credit Card

रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड अपनी तरह का अलग कार्ड होता है क्योंकि इस कार्ड के द्वारा किए गए खर्च जैसे शॉपिंग और लेन देन इत्यादि से आपको कुछ रिवार्ड पॉइंट मिलते है। इस क्रेडिट कार्ड के द्वारा किए गए खर्चे से मिले रिवॉर्ड पॉइंट्स पर आपको डिस्काउंट या कई तरह के ऑफर मिलते है जिनका लाभ आपको मिलता है।

6 – Secured Credit Card

सिक्यॉर क्रेडिट कार्ड ऐसे लोगो के लिए फायदेमंद है जिन लोगों का क्रेडिट स्कोर काफी कम या ख़राब होता है। ऐसे लोगो को उनके बैंक क्रेडिट लिमिट के बराबर की राशि जमा करके सुरक्षित क्रेडिट कार्ड दे दिया जाता है, जैसे जैसे क्रेडिट कार्ड का स्कोर बेहतर होता है वैसे वैसे क्रेडिट कार्ड की लिमिट में बढ़ोतरी होती रहती है।

क्रेडिट कार्ड के फायदे

काफी सारे इंसान क्रेडिट कार्ड के बारे में तो जानते है लेकिन क्रेडिट कार्ड के फायदों से अनजान होते है, चलिए अब हम आपको क्रेडिट कार्ड के फायदों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

1 – क्रेडिट कार्ड का सबसे बढ़ा फायदा यह है की अगर आपके बैंक अकाउंट में पैसे नहीं हैं तो उस स्थिति में भी आप अपने क्रेडिट कार्ड की मदद से पेमेंट कर सकते है।

2 – आज के समय में आपको अलग अलग तरह के क्रेडिट कार्ड मिलते है जिनकी मदद से आप अलग अलग कामो में इस्तेमाल करके डिस्काउंट प्राप्त कर सकते है, जैसे ट्रेवल क्रेडिट कार्ड से बुकिंग में डिस्काउंट पा सकते है और शॉपिंग क्रेडिट कार्ड से शॉपिंग में आप डिस्काउंट प्राप्त कर सकते है।

3 – अगर आप क्रेडिट कार्ड से किसी भी प्रकार का खर्चा करते है और सही समय पर पैसो का भुगतान कर देते है तो आपका क्रेडिट स्कोर सुधरने के साथ साथ आपकी लिमिट भी बाद जाती है।

4 – काफी सारी महंगी चीजों को आप क्रेडिट कार्ड की मदद से आसान किस्तों में ले सकते है।

5 – अगर आपके पास कैश नहीं है और ना ही आपके खाते में पैसे है, इस स्थिति में अगर आपको कैश की जरुरत है तो आप अपने क्रेडिट कार्ड से कैश भी निकाल सकते है।

क्रेडिट कार्ड के नुकसान

ऊपर आपने क्रेडिट कार्ड के फायदों के बारे में जाना, अब हम आपको क्रेडिट कार्ड के नुक्सान के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

1 – अगर आप क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान समय पर नहीं करते है तो आपको बैंक को ब्याज देना पड़ता है, जिससे आपकी जेब पर अधिक भर पड़ता है।

2 – आप क्रेडिट कार्ड से कैश निकालते है तो इस पर आपको बैंक को ज्यादा ब्याज देना होता है।

3 – क्रेडिट कार्ड का अधिक इस्तेमाल करना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है क्योंकि अधिक इस्तेमाल करने से बैंक में कर्जा काफी बढ़ जाता है, जिसकी वजह से आपकी सेविंग प्रभावित होती है।

READ ALSO  High BP Me Kya Khaye - हाई बीपी में क्या खाना चाहिए?

4 – लगभग सभी क्रेडिट कार्ड में कुछ ना कुछ वार्षिक चार्ज जरूर होता है, जिसे कार्ड धारक को चुकाना होता है।

5 – जब किसी भी इंसान के पास क्रेडिट कार्ड होता है तो कई बार वो बिना जरुरत के या कम जरुरत के सामान को भी खरीद लेता है, जिसकी वजह से उसके पैसे का सही इस्तेमाल नहीं होता है और खर्च किए गए पैसे का ब्याज देने की वजह से आर्थिक स्थिती पर असर पड़ सकता है।

क्रेडिट कार्ड किन किन लोगों को मिल सकता है? (Credit Card Eligibility Criteria In Hindi)

क्रेडिट कार्ड किन लोगो को मिल सकता है? यह एक ऐसा सवाल है जो काफी लोगो के मन में रहता है तो हम आपको बता दें की क्रेडिट कार्ड के लिए बैंक की कुछ कंडीशन होती है जो भी शख्स उन कंडिशनो को पूरा करता है उन्हें क्रेडिट कार्ड दे दिया जाता है। हर एक बैंक की अपनी अलग कंडीशन होती है इसीलिए सबसे पहले आप यह निर्णय कर लें की आपको किस बैंक का क्रेडिट कार्ड लेना है उसके बाद आप चेक करें की आप उस बैंक के क्रेडिट कार्ड के लिए Eligible है या नही, क्रेडिट कार्ड मिलने के लिए सबसे पहले शख्स का सिबिल स्कोर देखा जाता है। चलिए अब हम आपको क्रेडिट कार्ड के सिबिल स्कोर के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

क्रेडिट स्कोर/सिबिल स्कोर कितना होना चाहिए?

जब भी आप किसी बैंक का क्रेडिट कार्ड लेने की सोचते है तो सबसे पहले आपका सिबिल स्कोर चेक किया जाता है। दरसल सिबिल स्कोर कई सारी चीजों के जवाब पर निर्भर करता है जैसे आपकी इनकम कितनी है, आपके पास वाहन है, आपके पास अपना घर है इत्यादि सवालों के आधार पर सिबिल स्कोर मापा जाता है। इसके अलावा आपने बैंक से लोन ले रखा है या नहीं लोन है तो लोन कितना बड़ा है, इन सभी के आधार पर क्रेडिट या सिबिल स्कोर मिलता है जिसके आधार पर क्रेडिट कार्ड दिया जाता है। अगर आपका सिबिल स्कोर 600 से 700 के बीच में होता है तो आपको आसानी से क्रेडिट मिल जाता है लेकिन अगर आपका क्रेडिट स्कोर 200 से कम होता है तो आपको क्रेडिट मिलने की उम्मीद काफी कम होती है।

क्रेडिट कार्ड के लिए कितनी सैलरी होनी चाहिए?

जिन लोगो के पास क्रेडिट कार्ड नहीं होता है, उनके मन में यह सवाल रहता है की क्रेडिट कार्ड लेने के लिए कितनी सैलेरी होनी चाहिए। दरसल बैंक बिना आपकी सैलेरी देखें आपको क्रेडिट कार्ड उपलब्ध नहीं करवाती है, बैंक सबसे पहले आपकी सैलेरी देखती है, आपकी सैलेरी के अनुसार ही निर्णय लिया जाता है की आपको कितनी लिमिट तक का क्रेडिट कार्ड दिया जा सकता है। अगर आप क्रेडिट कार्ड लेना चाहते है तो आपकी सैलेरी कम से कम 10000 रुपये महीना होनी चाहिए अगर आपकी सैलेरी इससे कम है तो आपको क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई नहीं करना चाहिए। अगर आपकी सैलेरी 25, 000 या उससे अधिक है तो आपको आसानी से क्रेडिट कार्ड मिल जाता है।

क्रेडिट कार्ड लेने के लिए आयु कितनी होनी चाहिए?

अगर आप क्रेडिट कार्ड लेना चाहते है तो आपकी उम्र 21 साल से लेकर 70 साल के बीच में होनी चाहिए, लेकिन अगर आपकी उम्र 21 वर्ष से कम है तो आपको क्रेडिट कार्ड नहीं मिल पाएगा।

क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान कैसे करे?

क्रेडिट कार्ड से किए गए खर्च का भुगतान आप बहुत ही आसानी से कर सकते है, क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान आप Net Banking,  Mobile Banking और Third Party Platform इत्यादि से कर सकते है, ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए आपको कहीं जाना नहीं पढता है और आप आसानी से घर बैठे भुगतान कर सकते है। अगर आपको ऑनलाइन पेमेंट करने में परेशानी है या आप ऑनलाइन पेमेंट कैसे किया जाता है इसके बारे में जानकारी नहीं तो परेशान ना हो, इस स्थिति में आप क्रेडिट कार्ड का भुगतान ऑफलाइन भी कर सकते है। इसके लिए आप बैंक की ब्रांच में जाकर क्रेडिट कार्ड के काउंटर पर जाकर अपने बिल का भुगतान चेक या कैश के माध्यम से कर सकते है। लेकिन ख्याल रखें की अगर आप अपने क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान ऑफलाइन कर रहे है तो आपको कुछ शुल्क ज्यादा देना होता है, क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान ऑफलाइन करने पर आपको लगभग एक बिल पर 100 रुपए ज्यादा देने होते है।

निष्कर्ष –

ऊपर आपने क्रेडिट कार्ड के बारे में जानकारी प्राप्त की है, क्रेडिट कार्ड को सही से उपयोग किया जाएं तो क्रेडिट कार्ड बहुत ज्यादा फायदेमंद है। लेकिन फिर भी हम सलाह देंगे की क्रेडिट कार्ड लेने से पहले उसके बारे में जरूर जान लें और हमारे इस पेज को अधिक से अधिक शेयर करें जिससे हमारा यह पेज उन लोगो के पास पहुँच जाएं जिन्हे क्रेडिट कार्ड के बारे में जानकारी नहीं है।

Leave a Comment